बजट 2019: डेयरी के कामों को बढ़ावा देने का ऐलान, वित्त मंत्री ने कहा- गांव, गरीब और किसान को समर्पित बजट

डेयरी टुडे नेटवर्क,
नई दिल्ली, 5 जुलाई 2019,

वित्त मंत्री निर्मला सीतारण नें आज मोदी सरकार पार्ट-2 का वित्त वर्ष 2019-20 का आम बजट लोकसभा में पेश किया। अपने बजट भाषण में निर्मला सीतारण मने कहा कि सरकार ‘गांव, गरीब और किसानों’ को अपनी प्रत्येक योजनाओं में अहम स्थान देती है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी का विचार था कि भारत की आत्मा गांवों में बसती है, हमारी सरकार अपनी हर योजना में अंतोदय को बढ़ावा देने जा रही है। डेयरी, पशुपालन, कृषि को लेकर आम बजट में वैसे तो मोदी सरकार की तरफ से कुछ भी साफ-साफ नहीं था, लेकिन वित्त मंत्री ने पूरे डेयरी सेक्टर को एक लाइन में निपटाते हुए कहा कि डेयरी के कामों को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने अन्नदाता को ऊर्जादाता बनाने की भी बात कही।

10 हजार किसान उत्पादक संघ बनेंगे

वित्त मंत्री ने कहा कि कृषि अवसंरचना में अब निवेश को बढ़ावा दिया जाएगा। 10 हजार नए किसान उत्पादक संघ बनेंगे, दालों के मामले में देश आत्मनिर्भर बना है। हमारा लक्ष्य आयात पर कम खर्च करना है। किसान को उसकी फसल का सही दाम देना हमारा लक्ष्य है।

2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य पूरा करेंगे

वित्त मंत्री ने कहा कि जीरो बजट खेती पर जोर दिया जाएगा। खेती के बुनियादी तरीकों पर लौटना इसका उद्देश्य है। इसी से किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य पूरा होगा। उन्होंने कहा कि अगले 5 वर्षों में 10 हजार नए किसान उत्‍पादक संगठन बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ़ सालों में किसानों ने दालों के क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाया है। हम उम्‍मीद करते हैं कि तिलहन में भी किसान हमें आत्मनिर्भर बनाएंगे। ग्रामीण भारत पर हमारा विशेष ध्‍यान है। किसानों के लिए जीवन व्‍यतीत करना और व्यवसाय करना आसान बनाएंगे।

जीरो बजट फार्मिंग को बढ़ावा दिया जाएगा

उन्होंने कहा कि किसानों को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए ‘जीरो बजट फार्मिंग’ को बढ़ावा दिया जाएगा। इन सब प्रयासों में हम इस स्थिति में पहुंचेंगे, जहां पर जीरो बजट फार्मिंग को लागू किया जा सकेगा। हमारा लक्ष्‍य गांव में हर घर तक पानी पहुंचाने का है, जिसे हम पूरा जरूर करेंगे। सीतारमण ने कहा कि 2019-20 के दौरान 100 नए बांस, शहद और खादी कलस्टर की स्थापना होगी, प्रधानमंत्री मतस्य संपदा योजना के तहत मत्स्यिकी ढांचे की स्थापना होगी।

निवेदन:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

 

Share

2036total visits.

4 thoughts on “बजट 2019: डेयरी के कामों को बढ़ावा देने का ऐलान, वित्त मंत्री ने कहा- गांव, गरीब और किसान को समर्पित बजट”

  1. देसी पशुओं और गायों का संरक्षण मुख्य लक्ष्य हो, अन्यथा वही जर्सी और होलस्टीन-फ्रिशियन के गोबर से ज़ीरो-बजट खेती फिर से विष ही पैदा करेगी |

  2. agar is yojana kosahi sahi impliment karana h to gao tak imndary se pahuchana hoga,nahi to dhal ke do pat ho jayega.

  3. aaj gao me dairy project fishari,gotary etc ke madhay se hi kisano ke majbut kiya ja sakata h,isliy ye sarkar ke utam pahal h,

  4. ab samjh me aa rahi h ki mere gao meri sarkar wali kathan parilakchhit hogi gjay.andhi jee ka sapana ki gao merudand h ise majbut karana jaruri h.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें