दून इंटरनेशनल डेयरी एक्सपो-2019: बड़ी संख्या में डेयरी किसानों ने लिया हिस्सा

डेयरी टुडे नेटवर्क,
देहरादून, 29 सितंबर 2019,

प्रोग्रेसिव डेयरी फारमर्स एसोसिएशन, उत्तराखंड द्वारा आयोजित दून इंटरनेशनल डेयरी एक्सपो-2019 के दूसरे दिन भी बड़ी संख्या में किसानों और पशुपालकों ने हिस्सा लिया। किसानों जहां एक तरफ मेले में लगे डेयरी और एग्री कंपनियों के स्टालों में जानकारी हासिल की, वहीं दूसरी तरफ सेमिनार हॉल में विशेषज्ञों के विचारों को जाना। डेयरी एक्सपो के दौरान कई प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया है। बेस्ट ब्रीड प्रतियोगिता में हरियाणा और उप्र के पशुओं ने बाजी मारी।

रविवार को बारिश के बावजूद परेड ग्राउंड में लगे पशु मेले में भीड़ उमड़ी। मेले में भैंसों का शो हुआ। शो में 2018 का विनर रहा हरियाणा जींद का रुस्तम, राजस्थान के जोधपुर का भीम, हरियाणा का मोनू कमांडर, उप्र के सूरज समेत 12 भैंसों ने भी हिस्सा लिया। शो का मुख्य आकर्षण जाफराबादी भैंसा रहा। गो वर्ग में चौलिस्तान की गाय ने लोगों का दिल जीत लिया। बेस्ट ब्रीड प्रतियोगिता में हिसार के कपूर के पशुओं ने पहला, करनाल के प्रेम सिंह के पशुओं ने दूसरा और हरियाणा के मोमीन के पशुओं ने तीसरा स्थान हासिल किया। वहीं मुर्रा कटिया वर्ग में हिसार के प्रदीप के पशु पहले, हिसार के प्रमोद के पशु दूसरे और हरियाणा के मोमिन के पशु तीसरे स्थान पर रहे। भैंस नस्ल में गनगना के वीरेंद्र के पशु ने पहला और दूसरा, करना के प्रेम सिंह की भैंस तीसरे स्थान पर रही। देसी साहीवाल नस्ल में नजीबाबाद के वैभव की भैंस ने पहला, वीरेंद्र की भैंस ने दूसरा स्थान हासिल किया।

गाय की नस्ल में चौलिस्तान की गाय पहले, उत्तरकाशी की बद्री दूसरे स्थान पर रही। गिर नस्ल में विनोद की गाय पहले, वीरेंद्र की दूसरे स्थान पर रही। जर्सी नस्ल में प्रेम की गाय पहले नंबर पर आई। गिर ड्राई नस्ल में वीरेंद्र की गाय पहले, विनोद की दूसरे और अतिंदर की तीसरे स्थान पर रही। निर्णायक मंडल में करनाल के डॉ. जे के पुंडीर, डॉ. महेंद्र सिंह, डॉ. अजय पाल सिंह असवाल एवं अतिथि जज के रूप में डॉ. प्रेम कुमार पशुपालन के अतिरिक्त निदेशक शामिल थे। शीप बोर्ड के उपाध्यक्ष रविंद्र कटारिया ने भी मेले में शिरकत की। मेले के पहले सत्र में डॉ. नीलेश शर्मा ने पशु पालकों को थनैला बीमारी के लक्षण और बचाव के बारे में भी जानकारी दी। रविवार को हुई भारी बारिश की वजह से कई पशु पालक मेले में नहीं पहुंच सके। इस वजह से आयोजकों ने हाई मिल्की ब्रीड प्रतियोगिता रद्द कर दी। सिर्फ बेस्ट ब्रीड प्रतियोगिताएं हुई। आपको बता दें कि तीन दिवसीय एक्सपो का सोमवार को समापन होगा। मेले में हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोले महाराज और माता मंगला पशु पालकों को पुरस्कार वितरित करेंगे।

निवेदन:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

Share

1087total visits.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें