दूध बेचने के आलावा भी हैं कई रास्ते…जानिए कैसे कमाई बढ़ा सकते हैं डेयरी किसान

डेयरी टुडे नेटवर्क
गाजियाबाद, 12 जून 2019,

देश में डेयरी उद्योग निरंतर प्रगति कर रहा है। जैसे-जैसे लोगों की आय में बढ़ोतरी हो रही है और जीवन स्तर सुधर रहा है डेयरी उत्पाद जैसे दूध, दही, पनीर, घी, छाछ, क्रीम आदि की खपत बढ़ती जा रही है। यानी अब पहले की तरह डेयरी से जुड़े लोग सिर्फ दूध के व्यापार तक सीमित नहीं हैं। बल्कि अब डेयरी उद्योग में लगे किसानों और व्यापारियों के लिए दही, पनीर, देसी घी, खोया बनाकर बेचेने में भी अपार संभावनाएं हैं।

दूध की नहीं मिलती वाजिब कीमत

अक्सर देखा जाता है कि दूध गांवों और छोटे शहरों में पशुपालन करने वाले किसान अपना ध्यान सिर्फ दूध बेचने पर ही केंद्रित रखते हैं। जो किसान या डेयरी फार्म संचालक दूध सीधे बाजार में बेच देते हैं यानी सीधे ग्राहकों तक पहुुंचाते हैं उन्हें तो काफी फायदा हो जाता है लेकिन जो लोग ऐसा नहीं कर पाते उन्हें मजबूरन दूध को तमाम निजी डेयरी कंपनियों के केंद्रों पर ओने-पौने दाम पर बेचना पड़ता है।

पनीर, खोया, देसी घी बनाने में है फायदा

इन डेयरी किसानों को लगता है कि वो आखिर करें भी तो क्या?, आखिर उन्हें दूध की कीमत कैसे मिले। ऐसे में हम आपको कुछ तरीके बताते हैं जिनसे आप इसी दूध से ज्यादा पैसा कमा सकते हैं। जिन किसानों या डेयरी संचालकों के पास रोजना 100 लीटर से ज्यादा का दुग्ध उत्पादन होता है वे लोग खुद का पनीर, दही, छाछ, खोया और देसी घी बनाकर बेचे तो उन्हें काफी फायदा हो सकता है।

बाजार में गाय का दूध चालीस से पैंतालीस रुपये और भैंस का दूध 50 से 55 रुपये प्रति लीटर आसानी से बिकता है लेकिन किसान इसे सीधे ग्राहकों को नहीं बेच पाते हैं और उन्हें डेयरी कंपनियों की तरफ से गाय के दूध का 25 से 30 रुपये प्रति लीटर और भैंस के दूध का 35 से 40 रुपये प्रति लीटर दाम मिलता है। लेकिन यही किसान यदि दूध के कुछ हिस्से का देसी घी, खोया, पनीर और दही बनाकर बाजार में बेचें तो उन्हें अच्छे दाम मिल सकते हैं।

एक मशीन से बनते हैं सभी डेयरी उत्पाद


इसके लिए आपको एक खोया, पनीर और देसी घी बनाने वाली मशीन खरीदनी होगी। एलपीजी गैस और बिजली से चलने वाली इस मशीन के जरिए मिनटों में दूध को गर्म किया जा सकता है और जरूरत के हिसाब से खोया, पनीर, दही और देसी घी बनाया जा सकता है। बाजार में 100 लीटर दूध की क्षमता वाली मशीन की कीमत करीब 80 हजार के आस-पास है। ये मशीन 150 लीटर, 200 लीटर, 300 लीटर की क्षमता में भी मिलती है और इसका इस्तेमाल करना काफी आसान है। इन प्रोडक्ट को बनाने का फायदा ये भी है कि दूध को दो से चार घंटे तक ही रखा जा सकता है लेकिन यदि इससे खोया, देसी घी और पनीर जैसी चीजें बना दी जाएं तो एक से दो दिनों तक रखा जा सकता है और अच्छी कीमत पर बाजार में बेचा जा सकता है।

अपना ब्रांड भी बनाकर बेच सकते हैं

जिन डेयरी संचालकों के पास दूध की अधिकता है और मार्केट भी है तो वो अपना ब्रांड बनाकर भी इन उत्पादों को बेच सकते हैं। बाजार में शुद्ध और मिलावट रहित दूध, पनीर और देसी घी की खासी मांग है और ये अच्छे दामों पर आसानी से बिक जाते हैं।

23730total visits.

24 thoughts on “दूध बेचने के आलावा भी हैं कई रास्ते…जानिए कैसे कमाई बढ़ा सकते हैं डेयरी किसान”

  1. Jo pashu palak apna or apne gav k ass pass se jyada matra me milk collection kr skte h vo muje mile 8171056568

  2. Ser mere pass per dey 150 liter milk hota hai us. milk ko bechne me kathinai hoti hai ?
    Ser koi kanpniy ya factory bataiye jaha milk bechija sake.

    1. Ap kis city se ho ashish ji ap milk utpadak kishano or byapariyo se milo hum apka per day 50000 yani 2 tanker milk le sakte h

  3. मैं एक दूध उत्पादक किसान हूँ।मेरे पास प्रतिदिन 100 लीटर के आसपास दूध होता है।जिसे बाजार में बेचने की चुनौती है।क्या मैं किसी कम्पनी को सीधे आपूर्ति दे सकता हूँ?वो कम्पनी कौन कौन सी है ? मैं उसतक कैसे पहुँच सकता हूँ? कृपया मार्गदर्शन दें ।

    1. Panday ji ap kaha se ho ap muje 25000 ltr mik daily de do my contact no 8171056568

  4. डेयरी के लिये सरकारी सहायता कैसे मिलेगी

    1. संदीप कुमावत नावा सिटी राजस्थान says:

      सर मैं नावा सिटी से हूं मैं पशु पालन शुरू करना चाहता हूं इसमें सर पशुपालन के लिए जमीन पर लोन, कौन से पशु चाहिए पशुओं का इंश्योरेंस और दूध कहां बेचें इत्यादि इसमें हमें सरकार कितना सहयोग कर सकती है कितना अनुदान दे सकती है प्लीज सर इसकी जानकारी दे

  5. सर मैं दूध खरीद कर मार्केट में बेचने का काम शुरू करना चाहता हूँ तो मैं दूध कहाँ बेचूं समझ नहीं आरहा है कृपया उचित सुझाव दें।

  6. सर मार्केट में घी पनीर कैसे बचेगे

    1. संदीप कुमावत नावा सिटी राजस्थान says:

      सर मैं नावा सिटी से हूं मैं पशु पालन शुरू करना चाहता हूं इसमें सर पशुपालन के लिए जमीन पर लोन, कौन से पशु चाहिए पशुओं का इंश्योरेंस और दूध कहां बेचें इत्यादि इसमें हमें सरकार कितना सहयोग कर सकती है कितना अनुदान दे सकती है प्लीज सर इसकी जानकारी दे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें