यूपी के गन्ना किसान सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान से नाराज, कहा था किसान गन्ना कम बोएं, चीनी से बढ़ती है डायबिटीज

डेयरी टुडे नेटवर्क,
मेरठ/लखनऊ, 12 सितंबर 2018

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गन्ना किसानों को नसीहत देना उल्टा पड़ गया है। एक दिन पहले योगी आदित्यानाथ ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि किसान गन्ना कम बोएं, क्योंकि अधिक चीनी खाने से डायबिटीज हो जाती है। रैली वह गन्ना किसानों को बकाया भुगतान के बारे में बोल रहे थे और इसी दौरान उन्होंने यह विवादास्पद बयान दे दिया। उन्होंने गन्ना किसानों से कहा कि अन्य फसलें भी बोइये, ज्यादा गन्ना उत्पादन से चीनी की खपत ज्यादा होती है और इससे लोगों को डायबिटीज जैसी बिमारी हो जाती हैं।योगी आदित्यनाथ के इस बयान ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों का गुस्सा भड़का दिया। गन्ना किसान पहले से ही बकाया भुगतान नहीं होने से भाजपा सरकार से नाराज हैं और ऐसे में मुख्यमंत्री के इस बयान ने आग में घी छिड़कने का काम किया है।

जाहिर है कि डायबिटीज का सीधा संबंध चीनी खीने से नहीं होता है। डॉक्टरर्स का कहना है कि ज्यादा चीनी खाने का डायबिटीज होने से कोई संबंध नहीं है। यह शरीर में इसुंलिन की मात्रा कम होने से होता है। डायबिटीज होने के बाद शुगर लेवल की मेनटेन रखने के लिए चीनी खाने की मात्रा को नियंत्रित करना पड़ता है।

रैली के दौरान ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने गन्ना किसानों के भुगतान को लेकर अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है. उन्होंने यह साफ किया है कि अगर गन्ना किसानों के हितों को ध्यान में नहीं रखा जाएगा तो दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। योगी ने कहा उनकी सरकार ने गन्ना किसानों के लिए 36,000 करोड़ रुपये का भुगतान सीधे खाते में किया है बाकी के बचे हुए 10,000 करोड़ रुपये का भुगतान भी जल्द किया जाएगा. योगी ने कहा कि चीनी मिलों को घाटे से उबारने के लिए जल्द ही चीनी मिलों को सॉफ्ट लोन दिया जाएगा। गन्ना किसानों के हितों की बात करते हुए योगी आदित्यनाथ ने किसानों से यह भी अपील की कि वह गन्ना के अलावा भी दूसरी फसलों को उगाने पर ध्यान दें।

372total visits.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें