मिनी Dairy Farm पर 80,000 से 7 लाख रुपये तक का अनुदान, जल्द करें आवेदन

Share

डेयरी टुडे नेटवर्क,
पटना, 19 अगस्त 2019,

युवाओं के लिए डेयरी सेक्टर में कमाई के बेहतरीन अवसर हैं। बेरोजगार युवाओं को डेयरी के क्षेत्र में स्वरोजगार के लिए बिहार सरकार ने अनुदान देने की योजना तैयार की है। इसके तहत मिनी Dairy Farm लगाने पर युवाओं को 50 से 75 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। बिहार के पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग ने राज्य के कुछ चयनित जिलों में इस योजना की शुरुआत की है।

2 से 10 दुधारु पशुओं की डेयरी पर अनुदान

दुधारू पशु की मिनी डेयरी इकाई स्थापित करने पर सामान्य वर्ग के बेरोजगारों को 50 प्रतिशत जबकि अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग के युवाओं को 75 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान किया गया है। बिहार के गव्य विकास निदेशालय द्वारा संचालित समग्र गव्य विकास योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए यह अनुदान प्रस्तावित है। जो बेरोजगार युवा इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं वे 19 सितंबर तक सभी प्रमाण पत्रों एवं अनुभव प्रमाणपत्रों के साथ आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए चार तरह की श्रेणी निर्धारित है। इसमें दो दुधारू पशुओं के अलावा चार, छह और दस दुधारू पशुओं की मिनी डेयरी प्लांट स्थापित करने पर यह अनुदान दिया जाएगा। अनुदान की राशि प्लांट स्थापित कर दिये जाने के बाद पशुओं की खरीद एवं उसके रखरखाव के लिए दी जाएगी।

4 पशुओं की डेयरी पर ढाई लाख तक का अनुदान

विभाग के अधिकारियों के मुताबिक योजना में दो पशुओं के मिनी डेयरी प्लांट के लिए 1 लाख 60 हजार रुपये की लागत अनुमान निर्धारित है। इसमें सामान्य वर्ग को 80 हजार तथा एससी-एसटी को 1 लाख 20 हजार रुपये का अनुदान मिलेगा। इसी तरह चार दुधारु पशुओं की डेयरी लागत 3 लाख 38 हजार रुपये की अुनमानित है और इसमें सामान्य वर्ग के युवाओं को 1 लाख 70 हजार रुपये तथा एससी-एसटी वर्ग के युवा को को 2 लाख 54 हजार रुपये का अनुदान सरकार की तरफ से दिया जाएगा।

10 पशुओं की डेयरी पर 7 लाख रुपये तक का अनुदान

छह दुधारू पशुओं के डेयरी फार्म की स्थापना लागत 5 लाख 33 हजार रुपये अुनमानित है और इसमें सामान्य वर्ग के युवाओं को 2 लाख 66 हजार रुपये तथा एससी-एसटी के युवाओं को 4 लाख रुपये का अनुदान दिया जाएगा। इसी प्रकार दस दुधारू पशुओं की मिनी डेयरी इकाई की कुल अनुमानित स्थापना लागत 8 लाख 96 हजार रुपये में से सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को 4 लाख 48 हजार रुपये जबकि एससी-एसटी वर्ग को 6 लाख 72 हजार रुपये का अनुदान मिलेगा।

समग्र गव्य विकास योजना का लाभ उठाएं युवा

गव्य विकास विभाग के अधिकारियों के अनुसार समग्र गव्य विकास योजना के तहत मिनी डेयरी प्लांट स्थापित करने के लिए अनुदान का प्रावधान राज्य के कुछ चयनित जिलों में है। इसके लिए परियोजना का विस्तृत प्रतिवेदन विभाग के वेबसाइट (http://ahd.bih.nic.in/) पर उपलब्ध है। चालू वित्तीय वर्ष में इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू है। इच्छुक बेरोजगार युवा योजना में अनुदान का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। जो युवा इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं वे विभाग की वेबसाइट से समग्र गव्य विकास योजना का ब्योरा ले सकते हैं।

निवेदन:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

Share

7920total visits.

9 thoughts on “मिनी Dairy Farm पर 80,000 से 7 लाख रुपये तक का अनुदान, जल्द करें आवेदन”

  1. 10 गाय से फार्म करना चाहते है

  2. Sir mai ne to ish loan ke piche kafi time she para hu. lekin Abhi tak mughe koee kamyabi nahi mili h. first bar 4 cows ka form Bhar kar diya aur use bank of India ne bapas bhej diya for Maine 2 cows ka form bhar kar diya use bhi bank bapas kar diya.y

  3. राजस्थान वासियों के लिए क्या ,प्रावधान है।

  4. गव्य विकास के पास फोर्म ले कर बैंक में नहीं देने चाहते हैं

  5. डेयरी फार्म खोलना चाहते हैं। ग्राम अमहरा,बिहटा, पटना

  6. 10 गाय का डेयरी फार्म खोलना चाहते हैं। ग्राम अमहरा, बिहटा, जिला-पटना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें