अमेरिकी कंपनी Cargill ने इंडियन चॉकलेट मार्केट में रखा कदम, हर साल 10,000 टन चॉकलेट बनाएगी

डेयरी टुडे नेटवर्क,
नई दिल्ली, 24 जून 2020,

अमेरिकी खाद्य कंपनी कारगिल (Cargill) ने भारत के चॉकलेट कारोबार (Indian Market) में प्रवेश करने का ऐलान किया है। कारगिल कंपनी ने कहा है कि उसने हर साल 10,000 टन चॉकलेट उत्पादन के लिए लोकल मैन्‍युफैक्‍चरर के साथ समझौता किया है। जाहिर है कि कारगिल ने 1987 में भारत में अपना कारोबार शुरू किया था। कारगिल कंपनी रिफाइंड ऑयल, खाद्य सामग्री, अनाज व तिलहन, कपास, पशु पोषण सामग्री, जैव-औद्योगिक और बिजनेस स्‍ट्रक्‍चर्ड फाइनेंस सेक्‍टर में कारोबार करती है।

Read also : कोरोना से करो फाइट, हल्दी दूध के बाद अमूल लाई तुलसी और जिंजर वाला दूध

अगले साल से भारत में शुरू होगा चॉकलेट उत्पादन

कारगिल ने कहा कि एशियाई बाजार में चॉकलेट उत्पादों की उपभोक्ता मांग लगातार बढ़ रही है। इस बढ़ती मांग को देखते हुए कंपनी पश्चिम भारत में स्थानीय कंपनी के साथ साझेदारी कर रही है, ताकि वह एशिया में अपना पहला चॉकलेट प्रोडक्‍शन का काम शुरू कर सके। इस प्रोडक्‍शन यूनिट में 2021 के मध्य में परिचालन शुरू होने की उम्मीद है। कंपनी के मुताबिक, यहां शुरू में सालाना 10,000 टन चॉकलेट का उत्पादन किया जाएगा। बता दें कि भारत में चॉकलेट का बाजार 13-14 फीसदी सालाना की दर से बढ़ रहा है, जो दुनिया में सबसे ज्‍यादा है।

Read also : Coca-Cola ने बाजार में उतारी मसाला छाछ, अब अमूल और मदर डेयरी को मिलेगी कड़ी टक्कर

लोकल मैन्‍युफैक्‍चरर से किया करार, रोजगार भी पैदा होगा

कारगिल कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक लोकल मैन्‍युफैक्‍चरर के साथ समझौते के कारण स्‍थानीय स्‍तर बड़ी संख्या में नौकरियों का सृजन होगा। कारगिल कोकोआ और चॉकलेट एशिया-प्रशांत की प्रबंध निदेशक फ्रेंचेस्का क्लीमन्स ने कहा कि कारगिल के लिए भारत प्रमुख बाजार है। यह नई साझेदारी एशिया में हमारी क्षेत्रीय उपस्थिति और क्षमताओं को बढ़ाने के लिए हमारी प्रतिबद्धता को मजबूत करती है। यह हमारे स्थानीय भारतीय ग्राहकों के साथ-साथ क्षेत्र के बहुराष्ट्रीय ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने में कारगर साबित होगी।

Read also : मदर डेयरी ने लॉन्च किया हल्दी मिल्क, अब बढ़ाएं अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता

कई ब्रांड से भारत में खाने-पीने की चीजें बेचती है ‘कारगिल’

कारगिल ने 1995 में इंडोनेशिया के मकास्सर में कोकोआ का काम स्थापित कर एशिया के बाजार में अपनी मौजूदगी दर्ज कराई थी। कारगिल ने 2014 में इंडोनेशिया के ग्रेसिक में कोको प्रसंस्करण उत्पाद बनाने के लिए एक संयंत्र खोला। बता दें कि कारगिल के 70 देशों में मौजूद कार्यालयों में 1,60,000 कर्मचारी काम करते हैं। भारत में कारगिल खाद्य तेलों के प्रमुख ब्रांड जैसे नेचर फ्रेश, मिथुन, स्वीकार, लियोनार्डो ऑलिव ऑयल, रथ और हाइड्रोजनीकृत वसा के सूरजमुखी ब्रांड की मार्केटिंग करती है। नेचर फ्रेश ब्रांड नाम के तहत गेहूं के आटा भी बेचती है। भारत में कारगिल के कर्मचारियों की संख्या करीब 4,000 है।

Read also :  ‘Amul दूध पीता है इंडिया’ के बाद अब ‘अमूल आटा खाता है इंडिया’ की बारी

Note:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

537total visits.

3 thoughts on “अमेरिकी कंपनी Cargill ने इंडियन चॉकलेट मार्केट में रखा कदम, हर साल 10,000 टन चॉकलेट बनाएगी”

  1. Sir iam a food technology student. I am working in future group (Wheat flour unit)as a QA executive. I want to job in kargill.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें
error: Content is protected !!