समीक्षा बैठक में बोले डेयरी,पशुपालन सचिव अतुल चतुर्वेदी-राजस्थान के पशुपालकों को मिले केंद्रीय योजनाओं का पूरा लाभ

डेयरी टुडे नेटवर्क,
जयपुर, 20 फरवरी 2020,

केन्द्रीय पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन सचिव अतुल चतुर्वेदी ने गुरुवार को जयपुर में विभागीय समीक्षा बैठक ली। इस बैठक में राजस्थान के पशुपालन, डेयरी, गोपालन, आरसीडीएफ, पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, बीकानेर के अधिकारी मौजूद रहे। बैठक के दौरान राजस्थान के पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य विभाग के सचिव डॉ. राजेश शर्मा ने संचालित विभिन्न योजनाओं के संचालन एवं उनकी प्रगति को लेकर विस्तार से जानकारी दी। मीटिंग के दौरान केंद्रीय पशुपालन एवं डेयरी सचिव अतुल चतुर्वेदी ने अधिकारियों को राजस्थान में भारत सरकार के सहयोग से चल रही विभिन्न योजनाओं में प्राप्त राशि का समय पर उपयोग करने और उससे पशुपालकों की आय में बढ़ोतरी के प्रयास सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

Read also: Good News: Dairy Sector के लिए 4,558 करोड़ रुपये मंजूर, Dairy किसानों को अब ब्याज पर मिलेगी 2.5% की छूट

बैठक में केंद्रीय पशुपालन एवं डेयरी सचिव श्री अतुल चतुर्वेदी ने किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पशुपालन एवं डेयरी से जुड़े कार्यों के लिए पशुपालक किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़वा सकते हैं। साथ ही जिन पशुपालकों के पास किसान क्रेडिट कार्ड नहीं है वो भी पशुपालन गतिविधियों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं। इसके लिए जरूरी फार्म को बैंक में जमा कराना होगा। इस संबंध में उन्होंने विभाग को निर्देश दिये कि सभी जिलों को किसान क्रेडिट कार्ड के लक्ष्य आवंटित कर उन्हें पशुपालकों से तत्काल भरवाना सुनिश्चित करवाएं। बैठक में श्री चतुर्वेदी ने बताया की राजस्थान में भेड़, बकरी, सूअर एवं पोल्ट्री विकास की अपार संभावना है। केन्द्र सरकार द्वारा इस संंबंध में योजनाएं बन रही हैं और सरकार इनके जरिए किसानों में उद्यमिता की भावना विकसित करनी चाहती है।

Read also: आईटी की नौकरी छोड़ खोला Dairy Farm, दिल्ली-NCR में इनकी गीर गायों के A2 Milk की है जबरदस्त मांग

बैठक के दौरान राज्य के पशुपालन सचिव ने पशुपालन की ग्रामीण अर्थव्यवस्था में महत्ती भूमिका को देखते हुए केद्र सरकार से आवारा पशुओं के नियंत्रण तथा दुग्ध उत्पादन में बढावे के लिए सॉर्टेड सीमन की लैबोरेटरी राज्य में स्थापित करने की मांग की। इसके साथ ही उन्होंने टीका उत्पादन ईकाई, रोग निदान प्रयोगशालाओं, बहुउद्देशीय पशुचिकित्सालयों व पशु फार्मों के सुदृढ़ीकरण, पशु विपणन में वृद्वि के लिए राज्य स्तरीय पशु मेलोें के विकास तथा डेयरी संयंत्रों की प्रसंस्करण क्षमता बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार के स्तर से सहायता दिए जाने का आग्रह भी किया। केंद्रीय सचिव अतुल चतुर्वेदी ने राज्य के अधिकारियों को केंद्र की तरफ से पूर्ण सहयोग करने का आश्वासन दिया।

Read also: India Dairy Awards: डेयरी सेक्टर में है दम, अधिक से अधिक निवेश करें निजी कंपनियां: अतुल चतुर्वेदी

 

निवेदन:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

2910total visits.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें