रेलवे ने विकसित की स्वदेशी ‘रेल मिल्क टैंक वैन’, अब तेज गति से होगी अधिक दूध की सप्लाई

डेयरी टुडे नेटवर्क,
नई दिल्ली, 27 मई 2020,

कोरोना लॉकडाउन के दौरान अन्य जरूरी वस्तुओं को देश के एक कोने से दूसरे कोने में ढोने के लिए रेलवे की गुड्स ट्रेन लगातार फेरे लगा रही हैं। अन्य जरूरी खाद्य सामग्री की तरह ही रेलवे के टैंकरों द्वारा दूध की सप्लाई भी की जा रही है। फिलहाल जो रेल मिल्क वैन है उनकी क्षमता कम है। कोविड-19 में लॉकडाउन के दौरान डिमांड को पूरी करना रेलवे के लिए एक बड़ी चुनौती है। इसी चुनौती को पूरा करने के लिए अब भारतीय रेलवे ने अधिक क्षमता वाली ‘रेल मिल्क टैंक वैन’ (Rail Milk Tank Van) विकसित की हैं।

Read also: 15,000 करोड़ के फंड से डेयरी सेक्टर में सृजित होंगी 30 लाख नौकरियां, दुग्ध उत्पादन भी बढ़ेगा : सोढ़ी

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि रेलवे जो नई रेल मिल्क टैंक वैन विकसित की हैं, उनमें पहले की तुलना में 12 प्रतिशत अधिक यानि कुल 44,660 लीटर दूध ले जाया जा सकता है। इतना ही नहीं उन्नत तकनीकि से बनी इन रेल मिल्क टैंक वैन को 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ाया जा सकता है।

रेल मंत्री ने बताया कि पूरी तरह से स्वदेश में निर्मित इन रेल मिल्क वैन को विशेष स्टेनलैस स्टील से निर्मित किया गया है। अब इन रेल मिल्क वैन से सुरक्षित तरीके से कम खर्चे में और तेजी से मिल्क का ट्रांसपोर्टेशन किया जा सकेगा।

Read also: मोदी सरकार के आर्थिक पैकेज से डेयरी सेक्टर को होगा फायदा: दिलीप रथ, अध्यक्ष, NDDB

केंद्रीय डेयरी एवं पशुपालन सचिव अतुल चतुर्वेदी ने भी रेल मंत्रालय की इस पहल का स्वागत किया है। श्री चतुर्वेदी ने ट्वीट कर कहा कि रेलवे का यह कदम सप्लाई चेन मैनेजमेंट में गेम चेंजर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इससे देश के विभिन्न क्षेत्रों में दूध की मांग सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी। इससे न सिर्फ किसानों की आय में वृद्धि होगी बल्कि इस सेक्टर में निवेश भी बढ़ेगा।

रेल मंत्रालय के मुताबिक कोरोना लॉकडाउ के दौरान चौबीस घंटे, सातों दिन मालगाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। 24 मार्च, 2020 से 22 मई तक 23.2 लाख से अधिक मालगाड़ी वैगन को ढोया गया है। इनमें से 13.5 लाख से अधिक वैगन के जरिए जरूरी सामान, जैसे- दूध, खाद्यान्न, नमक, चीनी, खाद्य तेल आदि को ढोया गया है।

Read also : इस साल Dairy Products के उत्पादन में 10% वृद्धि का अनुमान

Note:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

Read also: कैसे रखें पशुओं को स्वस्थ और कैसे बढ़ाएं दूध, जानिए डेयरी विशेषज्ञ डॉ. मोहन जी सक्सेना से

525total visits.

3 thoughts on “रेलवे ने विकसित की स्वदेशी ‘रेल मिल्क टैंक वैन’, अब तेज गति से होगी अधिक दूध की सप्लाई”

  1. Nothing new .Pahle bhi aisa hua hai .ab bhi ho raha hai .Haan 40000 ki jagah 44000 capicity hai iska .
    Phir bhi railway ko badhai .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें