पशु आहार के दामों में बड़ी कटौती, दुग्ध उत्पादकों को होगा फायदा

डेयरी टुडे नेटवर्क
जयपुर, 20 मई 2020,

कोरोना महामारी से उत्पन्न हुए भीषण संकट के बीच दुग्ध उत्पादन और पशुपालन करने वाले किसानों के बड़ी राहत दी गई है। राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन (Rajasthan Co-operative Dairy Federation) ने पशु आहार (Animal Feed) की दरों में बड़ी कटौती की है। पशु आहार की कीमतें कम होने का सीधा फायदा दुग्ध उत्पादकों को होगा। बताया जा रहा है कि राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन ने पशु आहार की कीमतों में 100 रुपये प्रति क्विंटल की कमी की है। पशु आहार के दामों में यह कटौती मंगलवार यानी 19 मई की सुबह से लागू हो गई है। इस फैसले से राजस्थान में में सहकारी डेयरियों से जुड़े करीब 8 लाख दुग्ध उत्पादक किसान (Milk Producer Farmer) लाभान्वित होंगे।

राजस्थान में डेयरी फेडरेशन द्वारा सरस ब्रांड के तीन तरह के पशु आहार का उत्पादन किया जाता है। सामान्य सरस संतुलित पशु आहार अभी 2280 रुपये प्रति क्विंटल में मिल रहा था, जो अब 2180 रुपये प्रति क्विंटल की दर पर उपलब्ध होगा। वहीं सरस गोल्ड यानि हाई एनर्जी पशु आहार जो अभी 2430 रुपये प्रति क्विंटल में मिल रहा था वह अब 2330 रुपये प्रति क्विंटल में मिलेगा। इसी प्रकार 2550 रुपये प्रति क्विंटल में मिल रहा सरस डायमंड (बाइपास प्रोटीन) पशु आहार अब 2450 रुपये प्रति क्विंटल की दर पर मिलेगा।

इससे पहले पिछले हफ्ते शुक्रवार को राजस्थान के गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया ने सहकारी डेयरी संघों के अध्यक्षों और प्रशासकों के साथ विडियो कॉन्फ्रेंस की थी। इस मीटिंग में ज्यादातर डेयरी संघों के अध्यक्षों ने दुग्ध उत्पादकों को राहत देने के लिए पशु आहार की दरों में कमी करने का आग्रह किया था। कोरोना महामारी के बीच दुग्ध उत्पादकों की पीड़ा को देखते हुए राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन ने इस पर त्वरित निर्णय लेते हुए पशु आहार की कीमतें घटा दी है।

जाहिर है कि लॉकडाउन से किसानों के साथ ही दुग्ध उत्पादक भी बेहाल हैं। प्राइवेट डेयरियों और विक्रेताओं ने दुग्ध उत्पादकों से दूध (Milk) खरीदना बंद कर दिया है। सहकारी डेयरियां भी आधा-अधूरा दूध ही खरीद रही हैं। समारोह आदि के आयोजन पर प्रतिबंध होने से भी दूध की बिक्री प्रभावित हुई है। हालत ये हो गई है कि पशुपालक दूध की छाछ बनाकर वापस मवेशियों को पिलाने पर मजबूर है। वे भविष्य में घी की बिक्री से उम्मीद पाले हुए हैं। किसानों को फसल का दाम एकमुश्त मिलता है, जबकि दूध बिक्री से उसे रोज आमदनी होती है और घर खर्च चलता है। अब इस आमदनी पर ब्रेक लग गया है। वहीं लॉकडाउन से चारा महंगा हो गया है और पशुओं को यह महंगा चारा खिलाना पड़ रहा है। ऐसे में दुग्ध उत्पादकों पर लॉकडाउन की दोहरी मार पड़ रही है।

Note:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

250total visits.

One thought on “पशु आहार के दामों में बड़ी कटौती, दुग्ध उत्पादकों को होगा फायदा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें