आईटी की नौकरी छोड़ खोला Dairy Farm, दिल्ली-NCR में इनकी गीर गायों के A2 Milk की है जबरदस्त मांग

नवीन अग्रवाल, डेयरी टुडे नेटवर्क,
नई दिल्ली, 17 फरवरी 2020,

देशी गायों के डेयरी फार्मिंग में रोजगार और कमाई की बहुत संभावनाएं हैं। यदि पूरी प्लानिंग और तैयारी के साथ देसी गायों के Dairy Farm के बिजनेस में उतरा जाए तो सफलता निश्चित है। Dairy Today की कोशिश ऐसे ही डेयरी फार्मर्स की Success Stories को सामने लाने की होती, जिन्होंने अपने नए आइडिया और इनोवेशन से Dairy Farming के क्षेत्र में बड़ा मुकाम हासिल किया है। ‘डेयरी के सुल्तान‘ में आज हम लेकर आए हैं दिल्ली-NCR में गीर गायों के दूध के बड़े आपूर्तिकर्ताओं में से एक ‘क्षीरधाम डेयरी’ के संस्थापक और आईटी इंजीनियर कुशल सिंह की सफलता की कहानी।

जानिए कैसे आया डेयरी फार्म खोलने का आइडिया

डेयरी टुडे से बातचीत में कुशल सिंह ने बताया कि नौकरी के दौरान वो अक्सर अपने दोस्तों के साथ मिलावटी दूध, प्रदूषित जल से पैदा की जाने वाली सब्जियों समेत दूसरे खाद्य पदार्थों को लेकर चर्चा करते रहते थे। इसमें भी सबसे अधिक चिंता मिलावटी दूध को लेकर होती थी। हमेशा यही बातें होती थी कि पहले के जमाने में ऐसी मिलावट नहीं होती थी। करीब चार साल पहले कुशल सिंह के मन में ख्याल आया कि क्यों न परंपरिक तरीके से देसी गायों के दूध का उत्पादन किया जाए और इसी बहाने समाज की कुछ सेवा भी की जाए। जब उन्होंने अपने इंजीनियर दोस्त दुष्यंत सौभरि के साथ अपना आइडिया शेयर किया तो फार्मिंग बैकग्राउंड वाले दुष्यंत को उनका आइडिया जम गया और इस तरह शुरू हुआ Ksheerdham Dairy का इनोवेटिव प्रोजेक्ट।

Read also: ओडिशा के दो युवा इंजीनियरों को सलाम, जिन्होंने Farmtree App से Dairy किसानों की मुश्किलों को किया आसान

 

कुशल सिंह ने बताया कि करीब तीन साल पहले 2016 में उन्होंने Dairy Farm खोलने के लिए अपनी लाखों के पैकेज की नौकरी छोड़ दी। उन्होंने अपने दोस्त दुष्यंत सौभरि की पत्नी शालिनी सौभरि और अपनी पत्नी स्मृति सिंह के साथ मिल कर क्षीरधाम डेयरी की नींव डाली। कुशल सिंह बताते हैं कि डेयरी फार्म शुरू करने से पहले उन्होंने दूध को लेकर काफी स्टडी की और पाया की देसी गायों का दूध यानि A2 Milk ही असली दूध है और इसी के सेवन से तन-मन पूरी तरह तंदुरुस्त रह सकता है। कुशल सिंह ने डेयरी फार्म के लिए ग्रेटर नोएडा से 100 किलोमीटर दूर अलीगढ़ के इग्लास के पास उत्तमपुर गांव का चयन किया और वहां तीन एकड़ जमीन खरीद कर फार्म शुरू किया। सबसे बड़ी बात ये है कि क्षीरधाम डेयरी फार्म का संचालन महिलाओं के हाथ में है। फार्म की को-फाउंडर शालिनी सौभरि और स्मृति सिंह पूरा काम खुद संभालती हैं।

Read also : MBA पास युवक ने दुबई का बिजनेस छोड़कर खोला डेयरी फार्म, आज रोजाना 1000 लीटर दुग्ध उत्पादन और लाखों की कमाई भी

60 गीर गायों से शुरू किया फार्म, आज हैं 150 से ज्यादा गायें

कुशल सिंह बताते हैं कि उन्होंने गीर नस्ल की 60 गायों के साथ फार्म शुरू किया था, लेकिन करीब चार साल के बाद आज उनके फार्म में 150 से अधिक गायें हैं। पुराने कॉन्सेप्ट के अनुसार उन्होंने अपने फार्म पर गायों को प्राकृतिक वातावरण देने की सुविधा दी है। वे बताते हैं कि फार्म पर गायों को बांधकर नहीं रखा जाता है, बल्कि दिन में गायें खुली रहती हैं और अपने हिसाब से यहां-वहां घूमती रहती हैं। कुशल सिंह ने मार्डन डेयरी फार्मों की तरह गायों के लिए पंखा, कूलर आदि का भी इंतजाम नहीं किया है। उन्होंने आसपास के खेतों को लीज पर लिया, जहां हरे चारे के लिए बरसीम, ज्वार, बाजरा आदि उगाया जाता है। उन्होंने बताया कि वे गायों को रेडीमेड पशु आहार नहीं देते हैं।

Read also: पंजाब के कंप्यूटर इंजीनियर सुखवंत ने खोला डेयरी फार्म, हर महीने कमाते हैं 1.5 लाख रुपये

दिल्ली-एनसीआर में गीर गाय के A 2 Milk की सप्लाई

क्षीरधाम Dairy Farm में गायों का दूध मशीन से नहीं बल्कि हाथों से दुहा जाता है। दूध को फार्म पर लगे बल्क मिल्क कूलर में एकत्र कर 4 डिग्री के नीचे ठंडा किया जाता है। फिर वहीं गुणवत्ता जांच के बाद उस दूध को बोतल और पाउच में पैकिंग कर दिल्ली के विभिन्न इलाकों, नोएडा, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, गुड़गांव आदि में क्षीरधाम A2 मिल्क ब्रांड के नाम से सप्लाई किया जाता है। ये सारे प्रोडक्ट्स डेयरी फार्म से सीधे उपभोक्ताओं के घर पर डिलीवर किए जाते हैं। पैकेजिंग में रिसाइकिलेबल प्लास्टिक या कांच की बोतलों का इस्तेमाल कर पर्यावरण का भी बराबर ध्यान दिया जाता है। कुशल सिंह के अनुसार उनके डेयरी फार्म पर प्रतिदिन एक हजार लीटर के करीब दुग्ध उत्पादन होता है।

Read also : इस ग्रामीण महिला से सीखिए Dairy Farming, दूध बेचकर कमाती है सालाना 80 लाख रुपये

 

क्षीरधाम के बोतल वाले दूध की कीमत 97 रुपये प्रति लीटर, जबकि पाउच वाले दूध की कीमत 92 रुपये प्रति लीटर है। गीर गाय के A2 Milk की खासियत बताते हुए कुशल सिंह कहते हैं कि उनके ग्राहकों में बड़ी संख्या में डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, कैंसर आदि बीमारियों के पेशेंट शामिल हैं, जिन्हें इस दूध से चमत्कारिक रूप से फायदा हो रहा है। दूध के अलावा डेयरी फार्म पर पारंपरिक बिलौना (दही को बिलोकर) पद्धति से देसी घी बनाया जाता है, जिसकी कीमत 1900 रुपये प्रति लीटर है। इसके अलावा दही, पनीर, छाछ, गौमूत्र, गौअर्क, उपले आदि भी बनाकर बेचे जाते हैं।

Read Also: इंदौर की पल्लवी व्यास ने डेयरी फार्मिंग में लहराया सफलता का परचम, जानिए कैसे

दूध के बाद अब ऑर्गेनिक सब्जियों के बिजनेस का प्लान

कुशल सिंह के अनुसार डेयरी फार्म के संचालन में एक महीने में लगभग 20 लाख रुपये का खर्च आता है। 2016 में फार्म शुरू होने के बाद उन्होंने क्षीरधाम नाम से 2017 में दूध और दूसरे डेयरी प्रोडक्ट लांच किए थे। भविष्य की योजनाओं को लेकर वे बताते हैं कि जल्द ही वे ऑर्गेनिक तरीके से उगाई गई सब्जियों और फलों को लेकर आने वाले हैं। कई ऑर्गेनिक किसानों को इसके लिए जोड़ा गया है।

देसी गाय पालन के लिए चलाते हैं जागरूकता अभियान

दिल्ली-एनसीआर के लोगों को गीर गाय का शुद्ध A2 Milk उपलब्ध कराने के साथ ही कुशल सिंह अपने दोस्त दुष्यंत सौभरि के साथ मिलकर आस-पास के ग्रामीण इलाकों में किसानों को देसी गाय के पालन को लेकर जागरूकता अभियान भी चलाते हैं। किसानों को अपने फार्म पर भी लाकर गीर गायों की देखभाल करना सिखाते हैं। इसके अलावा दुष्यंत जी उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए और देसी गाय एवं उसके दुग्ध उत्पादों की ज्यादा से ज्यादा जानकारी उन तक पहुंचाने के लिए ब्लॉग्स एवं आर्टिकल भी लिखते रहते हैं। कुशल सिंह ने बताया कि क्षीरधाम डेयरी को गाय पालन के उत्तम कार्य के लिए जिला स्तर पर लगातार दो बार प्रथम एवं द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। इतना ही नहीं हाल ही में यूपी के पशुपालन एवं डेयरी विभाग के उच्च पदाधिकारियों, जिले के अधिकारियों और पशुपालन विभाग की टीम ने क्षीरधाम डेयरी का दौरा किया था और वहां चलाए जा रहे गीर गायों के संवर्धन के विशेष अभियान की सराहना की थी।

Read also: जानिए, सफल डेयरी फार्मर दिनेश पटेल गायों को खिलाते हैं कौन सा पशु आहार, जिससे गायें नहीं पड़ती बीमार

कुशल सिंह का Dairy Farming के क्षेत्र में किस्मत अजमाने वाले युवाओं से कहना है कि अगर डेयरी फार्मिंग के सेक्टर में आएं तो दूध की गुणवत्ता सुधारने के मकसद से आएं, समाज के लिए कुछ योगदान देने के उद्देश से आएं, सिर्फ पैसे कमाने के लिए नहीं।

निवेदन:– कृपया इस खबर को अपने दोस्तों और डेयरी बिजनेस, Dairy Farm व एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ शेयर जरूर करें..साथ ही डेयरी और कृषि क्षेत्र की हर हलचल से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज https://www.facebook.com/DAIRYTODAY/ पर लाइक अवश्य करें। हमें Twiter @DairyTodayIn पर Follow करें।

21652total visits.

19 thoughts on “आईटी की नौकरी छोड़ खोला Dairy Farm, दिल्ली-NCR में इनकी गीर गायों के A2 Milk की है जबरदस्त मांग”

  1. A very big THANKS to Dairy Today for recognizing amd appreciating Ksheerdham. Also like to thank all of you providing support with your encouraging words. Thank you all!

    1. दुष्यंत जी ये तो आपकी इनोवेटिव सोच और कठिन परिश्रम की सफलता है, हमने तो सिर्फ आपकी कामयाबी को देश के सामने लाने की कोशिश की है। आप और कुशल जी अपनी टीम के साथ इसी प्रकार प्रगति करते रहें, यहीं हमारी कामना है। धन्यवाद, संपादक, http://www.dairytoday.in

      1. धन्यवाद संपादक महोदय।
        आप सभी का सहयोग और शुभकामनाएं साथ रहीं तो देसी गायों का अभियान हर घर तक जरूर पहुंचेगा। ऐसा हमारा उद्देश्य है।

    1. सुनील जी, बहुत अच्छी बात है। जरूर शुरू कीजिए और हम इसमें किसी प्रकार का सहयोग कर सते हैं तो अवश्य बताएं।

    1. मौर्या जी, गाय की कीमत उसकी उम्र, ब्याहवन, और दूध देने की क्षमता के आधार पर 50,000 से 1 लाख तक कुछ भी हो सकती है।

  2. Very inspiring success story of progressive dairy Farmer Mr Kushal Singh and Dushyant Kumar. Dairy Today please publish such type of stories regularly. Thanks

    1. प्रह्लाद जी, धन्यवाद। वैभव जी, धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय खबरें