हमारे बारे में

भारत तेजी से आगे बढ रहा है। खेती-किसानी से लेकर तमाम क्षेत्रों में तकनीक के इस्तेमाल और औद्योगिकीकरण से संपन्नता बढ रही है। लेकिन हम यहां बात कर रहे हैं एक ऐसे क्षेत्र की जिसका जिसका संबंध हर एक घर से है हर एक शख्स से है। जी हां हम बात कर रहे हैं डेयरी उद्योग की। डेयरी को आमतौर पर महज दूध उत्पादन और उसकी बिक्री तक ही पहचाना जाता है। लेकिन ये इस क्षेत्र का सिर्फ एक पहलू है। दूध, घी, मक्खन, छाछ, दही, पनीर जैसी चीजें हमारे स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं और जैसे-जैसे देश के लोगों की क्रय शक्ति बढ़ती जा रही है देश में प्रति व्यक्ति डेयरी उत्तपादों की खपत बढती जा रही है।

डेयरी उद्योग से जुडे आंकडों के मुताबिक भारत में डेयरी उद्योग करीब 6 लाख करोड़ का है और सबसे बडी बात ये ही कि इसमें सिर्फ 20 फीसदी उद्योग संगठित है और बाकी 80 फीसदी असंगठित। यानी इस व्यवसाय से जुडे अस्सी फीसदी लोग पारंपरिक तरीका अपना रहे हैं। हालांकि इस क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं और सरकारी स्तर पर भी इस व्यवसाय के प्रचार-प्रसार और लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। इसके बाद भी डेयरी के क्षेत्र में वो प्रगति देखने को नहीं मिल रही है जो होनी चाहिए। लोगों में जानकारी का आभाव है, डेयरी व्यवसाय कैसे शुरू करें, इस क्षेत्र में क्या संभावनाएं हैं और किस तरह की तकनीक का इस्तेमाल हो रहा है इसकी जानकारी नहीं है।

इस वेबसाइट का मकसद डेयरी व्यवसाय से जुडे लोगों को इस क्षेत्र की हर बारीक से बारीक जानकारी उपलब्ध कराना और उनके बिजनेज को ऊंचाई तक पहुंचाने के तरीके बताना, बाजार में उनके उत्पाद की ज्यादा से ज्यादा कीमत दिलाना है। साथ ही हमारा मकसद ब्रांडेड डेयरी उत्पाद बनाने वाली कंपनियों को उनका व्यवसाय बढ़ाने में मदद करना, बाजार उपलब्ध कराना, नई तकनीकि से रूबरू कराना है। www.dairytoday.in वेबसाइट के जरिए सरकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने और दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में देश को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने की कोशिश होगी।

इस वेबसाइट में वो सब जानकारी होगी जिसे पढ कर डेयरी उद्योग से जुडे लोग अपना व्यवसाय बढ़ा सकते हैं, अपनी इनकम बढ़ा सकते हैं और इस व्यवसाय में आने वाली चुनौतियों का सामना कर सकते हैं। साथ ही इस वेबसाइट के जरिए डेयरी स्थापित करने के लिए प्रशिक्षण और डेयरी को करियर बनाने वाले छात्रों को डेयरी से जुडे कोर्स और कॉलेज की जानकारी भी मिलेगी। हम इस वेबसाइट के जरिए लोगों को डेयरी फार्म स्थापित करने से लेकर उत्पादों को बाजार में बेचने तक का परामर्श भी देंगे। इसके लिए हमारे पास विशेषज्ञों की टीम है।

हम उन लोगों के बारे में बताएंगे जिन्होंने डेयरी उद्योग में मुकाम हासिल किया है और अपने लाखों के पैकेज की नौकरी छोड कर इस व्यवसाय को अपना कर मिसाल पेश की है। हम समय-समय पर डेयरी उद्योग के महारथियों से भी रूबरू कराएंगे और उनकी सफलता की कहानी से आपको अवगत कराएंगे। हमारी कोशिश होगी कि सालाना 15 फीसदी की दर से बढने वाले इस क्षेत्र से जुड़कर लोग स्वावलंबी बन सकें और देश एक बार फिर दूध और दही की नदियों वाला देश बन सके और ये आपके सहयोग के बगैर संभव नहीं है।

संपादक
www.dairytoday.in

हमारे परामर्शदाता:-
null
श्री राजेश रपरिया
वरिष्ठ आर्थिक पत्रकार और पूर्व समूह संपादक, अमर उजाला
null
श्री अश्वनी कुमार
वरिष्ठ चार्टर्ड एकाउंटेंट एवं डेयरी एक्सपर्ट
लोकप्रिय खबरें